पिता क्या हैं ?

May 12, 2018

* पके फल पेड़ों से रिश्ते तोड़ जाते हैं,
   और यदि पिता अपाहिज हो तो उसे बच्चे छोड़ जाते हैं।

             * पिता जीवन है संबल है शक्ति है,
                पिता सृष्टि के निर्माण की अभिव्यक्ति है।

                         पिता क्या हैं

* पिता अंगुली पकड़े बच्चों का सहारा है,
*पिता कभी खट्टा, मीठा, तो कभी खारा है।

* पिता ही पालन है पोषण है,
   पिता ही परिवार का अनुशासन है।

                 * पिता अप्रदर्शित अनंत प्यार है,
                    पिता है तो बच्चों का इन्तेजार है।

* पिता है तो बच्चों के ढेर सारे सपने है,
   पिता है तो बाजार के सब खिलौने अपने हैं।

                 * पिता से परिवार में प्रतिपल राग है,
                    पिता से ही माँ की बिंदी और सुहाग है।

* पिता परमात्मा का जगत के प्रति आशक्ति है,
   पिता गृहस्थ आश्रम में उच्च स्थिति की भक्ति है।

 * पिता अपने इच्छाओं का हनन और परिवार की पूर्ति है,
    पिता रक्त में दिए गए संस्कारों की मूर्ति है।

                 * पिता एक जीवन को जीवन का दान है,
                    पिता दुनिया दिखाने का एहसान है।

                 * पिता सुरक्षा है अगर सिर पर हाथ है,
                    पिता अगर नही है तो बचपन अनाथ है।

* तो पिता से बड़ा तुम अपना नाम करो,
   पिता का अपमान नही उनपर अभिमान करो।

* क्योंकि, माँ बाप की कमी को कोई बाट नही सकता,
   और ईश्वर भी इनके आशीषों को काट नही सकता।

                 * विश्व मे किसी भी ईश्वर का स्थान दूजा है,
                    माँ बाप की सेवा ही सबसे बड़ी पूजा है।

                 * विश्व मे किसी भी तरह की तीर्थ यात्रा व्यर्थ है,
                    यदि बेटे के होते हुए माँ बाप असमर्थ है।


अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो शेयर करें और एक अच्छा सा कॉमेंट दें ।।
                                           " धन्यवाद "

Share This Article

I will share mobile software, unlocking, computer tricks, app reviews, new gadget information, and all other experiences so far...

Related Posts

Previous
Next Post »